Director Desk..

EHSAS FOUNDATION process at internal reform to strengthen its planning, monitoring and evaluation function and its human resources, finance and administrative management has begun to yield results. Progress was made in standardizing a predictable year planning process, as well as in starting to build the capacity of members and providing guidance on results, based planning and monitoring, as well as the generation of lessons learned and best practices, will require further improvement.

Donate Us

Latest News

 
COMPLETE THE BAMBOO CRAFT TRAINING

दिनांक 10/11/2020 को नाबार्ड के सौजन्य से एहसास फाउंडेशन द्वारा 13 दिवसीय बांस बम्बू से निर्माण होने वाले वस्तु के प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन बोरिओ प्रखंड के बांझी पंचायत भवन में किया गया . तेरह् दीनो तक चले इस प्रशिक्षण में स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को टोकरी ,सूप ,डलिया ,गुलदस्ता इत्यादि बनाना सिखाया गया | इस प्रशिक्षण के बाद यहाँ की महिलाओं को एक नया रोज़गार का जरिया मिल गया |अब ये महिलाऐं खुद से टोकरी ,सूप ,डलिया ,गुलदस्ता बना कर अपने नज़दीकी बाजार में बेच सकती है | एहसास फाउंडेशन के अध्यक्ष मो कैशर अली ने बताया की की अभी छठ पर्व के पावन अवसर पर बांस के सूप की मांग बाजार में बहुत ज्यादा हैं और बहुत सारे वयवसायी जो इस वयवसाय से जुड़े है उन्हें हमेशा से बाजार में मांग के हिसाब से तैयार माल नहीं मिलता .| मगर चुकी अब ये महिलाऐं भी टोकरी ,सूप बनाने लगेंगी तो काफी हद तक बाजार में मांग की कमी को पूरा किया जा सकता है | ख़ासकर छठ पर्व के इस अवसर पर ये प्रशिक्षण इन महिलाओं के लिए एक बेहतर जीविकोपार्जन का स्रोत साबित होगा । बांस से बने सामानो का बाजार हमेशा बना रहता है और इस तरह के प्रोडक्ट को बेचने में कोई मुश्किल भी नहीं आती ,समूह की सारी महिलाऐं इस नए वयवसाय को लेकर काफी उत्साहित हैं | इस कार्यक्रम के समापन समारोह में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक,नाबार्ड के साहिबगंज एवं पाकुर जिला विकास प्रबंधक मो नियाज़ इसरत, जिला अग्रणी बैंक प्रबधक साहिबगंज , एहसास फाउंडेशन के अध्यक्ष मो कैशर अली,सचिव मो अख्तर आलम कोषाध्यक्ष मो अनवर अंसारी एवं संस्था के सदस्य फूलो टुडू , मोसर्रत जहाँ ,नेहा मरांडी ,मरियम हेंब्रम , प्रशिक्षक लखि राम टुडू के साथ साथ बांझी संथाली के मुखिया स्टीफन मुर्मू, उपमुखिया जे बास्की ,सोना संथाल समाज सिमिति कदमा के सुना हांसदा उपस्थित थे

10/11/2020

BAMBOO CRAFT TRAINING

दिनांक 29/10/2020 को नाबार्ड एवं एहसास फाउंडेशन के सौजन्य से 13 दिवसीय बांस बम्बू से निर्माण होने वाले वस्तु के प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्द्घाटन ,बोरिओ ब्लॉक के बांझी संथाली के पंचायत भवन में किया गया .इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में वैसी महिलाऐं जो आज तक सिर्फ साल में एक बार होने वाली खेती पे निर्भर रहती हैं और बाकी पूरा साल इनके जीवन यापन का कोई दूसरा स्रोत नहीं हैं . यहाँ की महिलाओं का भविष्य बेहतर बनाने के लिए .इस तरह की महिलाऐं जो की स्वयं सहायता समूह की भी सदस्य है ,इस तरह की महिलाओं का एहसास फाउंडेशन ने चयन किया और नाबार्ड के सौजन्य से इनके जीविकोपार्जन का जरिया बेहतर बनाने हेतु बांस बम्बू से बनने वाले सामानो (जैसे टोकरी ,डलिया,सूप अलमीराः मचिया ) इत्यादि का प्रशिक्षण करवाने हेतु इस कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया .इस प्रशिक्षण के बाद महिलाऐं स्वतः ही एक नए रोज़गार से सीधे तौर पे जुड़ सकेंगी और अपने परिवार के लिए एक बेहतर भविष्य का निर्माण कर पाएंगी | इस प्रशिक्षण के शुभारम्भ में एहसास फाउंडेशन संस्था के अध्यक्ष मो कैशर अली,कोषाध्यक्ष मो अनवर अंसारी ,सचिव मो अख्तर आलम ,सदस्य मोसर्रत जहाँ ,बांझी संथाली के मुखिया श्री स्टीफेन मुर्मू ,वार्ड सदस्य दिलीप हांसदा ,स्वयं सहायता समूह की CRP फूलो टुडू,नेहा मरांडी ,मरियम एवं प्रशिक्षक लखि राम टुडू उपस्थित थे

29/10/2020

महिलाओं को आत्म निर्भर बनाना

चूड़ी ,लाहा मेकिंग का प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य वहां की महिलाओं को आत्म निर्भर बनाना एवं समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के साथ साथ नए रोज़गार के अवसर प्रदान कराना था.प्रशिक्षण समापन के अंतर्गत एहसास फाउंडेशन एवं नाबार्ड के तरफ से महिलाओं को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र भी निर्गत किया गया .समापन समारोह कार्यक्रम में नाबार्ड के साहिबगंज एवं पाकुड़ जिला विकास प्रबंधक इसरत नियाज़ ,एहसास फाउंडेशन के अध्यक्ष मो कैशर अली उपस्तिथ थे

08/10/2020

स्वच्छता अभियान का शुभारंम्भ किया गया

द्वारा बोरिओ प्रखण्ड, बांझी पंचायत के बीरबल कन्दर में स्वच्छता अभियान का शुभारंम्भ किया गया। कार्यक्रम के अध्यक्ष नेयाज इशरत, डीडीएम नाबार्ड, साहिबगंज ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए बताया कि आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जन्म दिवस को भारत सरकार ने स्वच्छता दिवस के रूप में बनाने का निर्णय लिया था। इसी कड़ी में नाबार्ड ने आज से पूरे भारतवर्ष के 1 लाख गाँव में स्वच्छता अभियान का शुभारंम्भ किया जा रहा है जिसका मूल उद्देश्य नागरिकों को स्वच्छता के बारे जागरूक करना एवं इससे संबन्धित संरचना के रख रखाव के लिए सामुदायिक भागीदारी सुनिश्चित कराना है। कार्यक्रम 02 अक्तूबर 2020 से 26 जनवरी 2021 तक झारखण्ड राज्य के 100 गाँव में चलाया जाएगा।

02/10/2020

नाबार्ड एवं एहसास फाउंडेसन द्वारा पेपर बैग निर्माण प्रशिक्षण

नाबार्ड द्वारा एमईडीपी परियोजना के तहत एक 13 दिवसीय पेपर बैग निर्माण प्रशिक्षण का शुभारंभ किया गया जिसका संचालन एहसास फाउंडेसन, साहिबगंज द्वारा बांझी के बीरबल कंदर में किया जा रहा है। एहसास फाउंडेसन के सचिव क़ैसर अली द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ सभा की समाप्ति हुई। कार्यक्रम में ग्राम प्रधान, SHG की महिलाएं, जल सहिया, एएनएम, किसान, एहसास फाउंडेसन के मो0 अख्तर, मो0 अनवर एवं प्रशिक्षक सम्मिलित हुए।

02/10/2020

प्रशिक्षण कार्यक्रम

एहसास फाउंडेशन साहिबगंज | आज दिनांक 08/10/2020 को एहसास फाउंडेशन एवं नाबार्ड के द्वारा चलाए जा रहे बरहरवा ब्लॉक में कस्टम ज्वेलरी प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन किया गया एहसास फाउंडेशन एवं नाबार्ड द्वारा बरहरवा ब्लॉक के लब्दा पंचायत में चलाए जा रहे सुक्ष्म उधमिता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम MEDP के तहत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को कस्टम जेवेलरी चूड़ी ,लाहा मेकिंग का प्रशिक्षण दिनांक 24/09/2020 से चल रहा था इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का आज दिनांक 08/10/2020 को समापन किया गया

08/10/2020

सुक्ष्म उधमिता विकास प्रशिक्षण

एहसास फाउंडेशन एवं नाबार्ड द्वारा बरहरवा ब्लॉक के लब्दा पंचायत में चलाए जा रहे 15 दिवसीय सुक्ष्म उधमिता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम

24/09/2020

Welcome to Ehsas Faundation


The EHSAS FOUNDATION was established in 2014,since then the organization has been expanding continuously in terms of social development service. It has worked for the Education promotion of sustainable,equitable and participatory development, social welfare and social justice through: Program for social work, Human Resources Management, Health service and other human service through Indian Skill Eco System knowledge, social intervention through training and field action, contribution to social and welfare policy and program at state,levels, over the years, the organization has among others (NGOs societies) thrusts made a significant contribution to planning, action strategies and Human Resource Development in several areas, ranging from sustainable rural and urban development to education, health ,Agriculture, and Human Rights, in all case ,the focus has been on the disadvantaged and marginalized section of societies,

Prajwaleet Vihar